1.10.10

अब हिंदी ब्लागजगत भी हैकरों की जद में .... निदान सुझाए.....

ब्लागिंग जगत में पास वर्ड हैकिंग का काम कुछ ब्लागर कर रहे हैं ऐसा अनुभव कल काफी ब्लागरों को झेलना पड़े हैं . कल समयचक्र ब्लॉग पर मेरे द्वारा ११ बजकर एक पोस्ट प्रकाशित की गई थी जो हूबहू ११ बजकर ०६ मिनिट पर बंटी चोर द्वारा उड़ा दी गई और अपने ब्लॉग में प्रकाशित कर दी गई और मुझे उन महोदय द्वारा दिलेरी के साथ टीप द्वारा यह भी बता दिया गया की आपकी पोस्ट चोरी चली गई है और विश्वास न हो तो उनका ब्लॉग देख लूं . उसके उपरांत मेरे द्वारा ब्लॉग खोला गया तो हिंदी भाषा के कुछ शब्दों की जगह की जगह अन्य भाषा दिखाई दे रही थी .

आजकल कुछ इसे साफ्ट वेअर आ गए हैं जिनकी मदद से किसी भी सिस्टम से यूजर पास वर्ड हैकर द्वारा उठा लिए जाते हैं . इन हैकरों द्वारा सदुपयोग कम दुरुपयोग ज्यादा होने लगा है . आपने जो कुछ भी टाईप किया उसे एक लांग फ़ाइल में सहेज दिया जाता है और आपके सारे किये धरे पर पानी फिर जाता है और आप निराश होने लगते हैं . अब ब्लागरों को हैकरों से सावधान रहना चाहिए .... कृपया निम्नाकित ब्लॉग का अवलोकन करें . मै भी इस समस्या से निजाद पाने हेतु इस ब्लॉग को पढ़ रहा हूँ ... आप भी देखें शायद ये आपके काम का हो ...

बंटी चोर महोदय द्वारा याहू मेल पर फर्जी आई.डी.बनाई गई है और वे महोदय साफ्टवेअर के जानकार लगते हैं ... ऐसे हैकरों से निपटने के लिए क्या उपाय किये जा सकते हैं ... आपके बहुमूल्य सुझाव आमंत्रित हैं ...

एक सवाल जोड़ रहा हूँ - नेट पर आजकल बैंकिंग से लेकर कई जगह भुगतान आदि के लिए सिस्टम में पासवर्ड का प्रयोग तो करना ही पड़ता है ... और यदि इस तरह सिस्टम से पासवर्ड हैक होते रहे है तो नेट वोर्किंग का भविष्य क्या होगा यह उपयोगकर्ता के सामने विचारणीय प्रश्न चिन्ह बनकर खड़ा हो गया है ... कभी न कभी इस समस्या पर विचार तो करना ही पड़ेगा .

0000000

30 टिप्‍पणियां:

  1. मेरा आर्कुट भी हैक हो गया था और मुझे डिलीट करना पड़ा.

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत कम की जानकारी दी आपने शुभकामनायें

    जवाब देंहटाएं
  3. बढिया जानकारी दी……………आभार्।

    जवाब देंहटाएं
  4. भाई बंटी चोर - तो सीना जोर है. दूसरे हमरे facebook में पता नहीं कैसे वामपंथियों ने धावा बोल दिया की अकाउंट ही बंद करना पड़ा.

    राम राम जी

    जवाब देंहटाएं
  5. भाई वाह यहाँ भी हमारी चर्चा है .....

    जवाब देंहटाएं
  6. बिल्‍कुल सही कहा आपने, मेरी भी रचना इसी तरह चोरी हो चुकी है ।

    जवाब देंहटाएं
  7. मिस्र जी , यह तो बड़ा डरावना सत्य है ।

    जवाब देंहटाएं
  8. हम फक्कड लोगो को चोरों से क्या डर |

    जवाब देंहटाएं
  9. जानकारी काम की है । आपका आभार ।

    जवाब देंहटाएं
  10. जानकारी तो काम की है!
    --
    मगर कई ब्लॉगर इस डर से ब्लॉगिंग छोड़ सकते हैं!

    जवाब देंहटाएं
  11. सच कह रहे हैं भईया, ये हेकिंग बड़ी खतरनाक चीज है. जैसे कोई घर का टाला तोड़ के घुस जाए और दरवाजा अन्दर से बंद कर ले. घर का मालिक चाह के भी अन्दर नहीं जा सकता. अभियान भारतीय चलाने वाले भाई गौरव अल्प काल में दो बार हेकिंग का दंश झेल चुके हैं. इसका स्थायी इलाज होना ही चाहिए.

    जवाब देंहटाएं
  12. जानकारी तो अच्छी है ..पर निदान क्या है ?

    जवाब देंहटाएं
  13. क्‍या किया जाए ??
    इनके मध्‍य ही तो रहना है !!

    जवाब देंहटाएं
  14. अब तो राम ही बचाए...सचेत करने के लिए आपका धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  15. बैंकिंग मे डरने की कोई बात नही, इस मै हेकिंग की गुंजाश जीरो है, क्योकि जब आप पेसो को कही भेजेगे तो आप को एक नया पासपोर्ट देना पडेगा जो उस समय तक आप को भी नही मालुम( यह पासपोर्ट आप को एक लिस्ट के रुप मे बेंक से मिलते है जिस्मै ५०, या १०० पास पोर्ट होते हि ओर कब कोन सा पास पोर्ट मांग ले आप को अनत मै ही पता चलता है, ओर तीन बार गलत देने पर आप का एकाऊंट बन्द हो जाता है ओर फ़िर आप को बेंक जानापडेगा

    जवाब देंहटाएं
  16. बहुत बढ़िया और महत्वपूर्ण जानकारी मिली! धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  17. हा हा हा .... हमारी चर्चा यहाँ भी है .....

    जवाब देंहटाएं
  18. ये हसी वाला हा हा हा ... नहीं है ..... ये वो है जैसे रावण हँसता होगा ..

    जवाब देंहटाएं
  19. मिश्र जी, मैंने आपकी रचना के साथ कोई छेड़ छाड़ नहीं की है .... बस अच्छी लगी तो चुरा ली .... डरिये मत ..

    जवाब देंहटाएं
  20. एक पोस्ट मेरे ब्लॉग से भी ली गई थी मगर वह बंटी चोर के ब्लॉग पर ठीक वैसे ही पढ़ी जा सकती थी जैसी कि मेरे ब्लॉग पर। संभवतः,आपकी पोस्ट के साथ फोंट से जुड़ा कोई मुद्दा रहा होगा। मैं समझता हूं कि यह हैकिंग का मामला न होकर,अच्छी पोस्टों को,बगैर क्रेडिट दिए,अपने नाम से छाप लेने मात्र का मामला है।

    जवाब देंहटाएं
  21. बहुत ही सुन्दर पोस्ट .बधाई !

    जवाब देंहटाएं
  22. महेन्द्र जी,
    सच, ऐसी समस्या का स्थाई समाधान कैसे हो? एक यक्ष प्रश्न है ?
    यदि कोई यधुष्ठिर हो तो अवश्य आयेज आए !!!!
    - विजय तिवारी " किसलय "

    जवाब देंहटाएं
  23. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  24. मिश्रा जी
    आपने जो जानकारी दी वह बहुत महत्‍वपूर्ण है ..
    - रमेश सैनी

    जवाब देंहटाएं
  25. इसे पढ़े ..... काम की चीज है
    http://chorikablog.blogspot.com/2010/10/94.html

    जवाब देंहटाएं
  26. अनावश्यक डाउन लोड से बचें। बहुत सारी समस्याओं का समाधान होगा।
    दूसरी बात; आम स्थानों पर इंटर नेट उपयोग करने से बचें। कई जगह सिस्टेम इस तरह से सेट रहता है कि आप चाह कर भी कुछ नहीं कर सकतें।

    हाँ, ब्लोगिंग से कुछ मारा गया है, तो उसका कुछ इलाज है। आप उसे नहीं जानते। मुझे ठीक से याद नहीं, शायद पाबला जी ने अपने ब्लॉग पर इस संबंध में बहुत विस्तृत जानकारी दी है।

    ए कॉमर्स बहुत सुरक्षित है। आपसे बहुत सारी जानकारियाँ मांगी जाती है।

    जवाब देंहटाएं
  27. मेरा प्रणाम स्वीकार करें !!
    आपने बेहद सार्थक बातें बताई हैं, मेरा ब्लॉग सहित प्रोफाइल तीन दिन पूर्व ही "अभियान भारतीय" की बढती लोकप्रियता से परेशां होकर किंचित असामाजिक तत्वों द्वारा हैक कर ली गयी है, इसके पहले एक बार और मै इस दंश को झेल चूका हूँ , निश्चित रूप से इसका निराकरण बेहद आवश्यक है .......सार्थक चर्चा के लिए आभार !!

    जवाब देंहटाएं

आपका ब्लॉग समयचक्र में हार्दिक स्वागत है आपकी अभिव्यक्ति से मेरा मनोबल बढ़ता है .