30.10.09

महापुरुषों के सदविचार ....जो युद्ध की सी तत्परता व्यक्त नहीं करता है वह हार जाता है.

० इस बात की परवाह मत करो की लोग तुम्हे क्या कहेंगे ? लोग तो अपने अपने मन की कहेंगे . वे राग द्वेष का जैसा चश्मा चढाये होंगे वैसा ही कहेंगे. उनकी प्रशंसा में फूलो मत और उनकी निंदा से घबराकर लक्ष्य से मत हटो .

० चार बातें नहीं भूलना चाहिए -

बडो का आदर करना
छोटो को सलाह देना
बुद्धिमानो से सलाह लेना
और मूर्खो से न उलझना .

० जब तक तुम स्वयं अपना उद्धार करने के कमर कसकर खड़े नहीं होंगे तब तक करोडो ईसा मुहम्मद बुद्ध या राम मिलकर भी आपकी रत्ती भर मिलकर सहायता नहीं कर सकते . इसीलिए दूसरो की और मत ताको अपनी सहायता आप करो .

० कर्तव्यपालन करते हुए मौत मिलना मनुष्य जीवन की सबसे बड़ी सफलता और सार्थकता मानी गई है .

० यह जीवन संग्राम है और इसमें जो युद्ध की सी तत्परता व्यक्त नहीं करता है वह हार जाता है पर जो प्रयत्न और पुरुषार्थ का गांडीव उठाकर रण के लिये तैयार हो जाता है वही अंत में विजय पाता है .

......

17 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्‍छी बातें बतायी आपने !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थक बातें जीवन के लाने योग्य...धन्यवाद महेंद्र जी!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाजिब कहा पंडितजी वाजिब कहा।

    उत्तर देंहटाएं
  4. सादर नमन,
    सत्य वचन,
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर बात कही आप ने धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  6. aapne bahut achchi baaten baatayi..... aapka aabhaari hoon.........

    उत्तर देंहटाएं
  7. namaskaar mahendraji !
    aapne saar ki bat kah dee

    sachmuch in char baaton par hamaaraa poora jivan tika hua hai
    aapko laakh laakh abhinandan !

    उत्तर देंहटाएं
  8. bahut hi umda vichar diye hain.
    sahi kaha gaya hai-----------apne mare bina swarg nhi dikhta shayad isiliye kaha gaya hai apna uddhar karna hai wo swyam hi karm karna hoga.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आभार इन सदविचारों का. बहुत सही लाये.

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही सुंदर, सार्थक और सही बात कहा है आपने ! बढ़िया लगा!

    उत्तर देंहटाएं
  11. .बहुत ही achha laga, सुंदर laga.......... सार्थक और सही बात कहा है आपने..........

    उत्तर देंहटाएं
  12. bhut badhiya kha h apne yahi baate jeevan m utar lo to jeevan sukhi ho jayega

    उत्तर देंहटाएं

आपका ब्लॉग समयचक्र में हार्दिक स्वागत है आपकी अभिव्यक्ति से मेरा मनोबल बढ़ता है .