3.5.11

आत्मबोध : अच्छा राम राम, सत श्री अकाल, गुड बाई ...

गत रात्रि एक सपना देखा की मैं एक ब्लागर ब्लागरों के सब्जी बाजार में.... कुजड़ियाँ और कुजड़े झक झक कर रहे हैं और सब्जी बाजार में काफी ब्लागर थैला लेकर खरीद फरोख्त में व्यस्त हैं पर हल्ला गुल्ला कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है .

मैं तो थैला लेकर इसीलिए सब्जी लेने गया था की चलो शांति मिलेगी और समय भी कट जावेगा पर यह सब देखकर मुझे लगा की.... मैं इस हल्ला गुल्ला भरे माहौल में कैसे पहुँच गया हूँ और सड़ी गली बासी सब्जी खरीदने आ गया हूँ और अपना कीमती समय खराब कर रहा हूँ ? बाजार में उसे सफलता मिलती है जिसे तौल मोल करने में महारत हासिल हो ... मुझे तो कुछ भी ज्ञान नहीं है ...

यह सब देखकर मुझे आत्म बोध हुआ की यार ब्लागरों की सब्जी मंडी (दलदल के अलावा) कुछ नहीं है ...... दलदल से अभिप्राय - जितना धंसोगो उतना धंसते जाओगे ....

मुझे और भी तो ढेरों काम पड़े हैं इसीलिए मैं जा रहा हूँ . सब भाइयों बहिनों को बुजुर्गों को अच्छा राम राम, सत श्री अकाल, गुड बाई ...


0000000


नोट- दिनाक 06-5-11 परसों सुबह जनशताब्दी से भोपाल और उसके बाद शताब्दी से ग्वालियर और एक दिन बाद हरिद्वार तीन दिन भ्रमण करने के बाद देहली में दो दिन रहूँगा और फिर जबलपुर वापिस हो जाऊंगा . इस यात्रा के दौरान ब्लागर भाइयों से मुलाकात करने का मन बनाया है यदि इस दौरान ब्लागर भाइयों से मुलाक़ात हो सकी तो मैं अपने आपको सौभाग्यशाली समझूंगा....

महेंद्र मिश्र
जबलपुर
मोबाइल - 7389452041


000000

23 टिप्‍पणियां:

एम सिंह ने कहा…

जो भी करेंगे, इंतज़ार रहेगा

देखें दुनाली पर
लादेन की मौत और सियासत पर तीखा-तड़का

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आपके बताने का इंतज़ार रहेगा

Poorviya ने कहा…

ham aap kee yatra subh aur safal ho yeh kamna karte hai.......


jai baba banaras................

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

बाजार में उसे सफलता मिलती है जिसे तौल मोल करने में महारत हासिल हो ...

बिलकुल सही कहा।

Akanksha~आकांक्षा ने कहा…

इंतजार रहेगा...देखते हैं.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

प्रतीक्षा रहेगी।

Rahul Singh ने कहा…

''ज्ञान नहीं है ... यह सब देखकर मुझे आत्म बोध हुआ'' चलिए ज्ञान नहीं तो बोध सही.

ZEAL ने कहा…

Perfect marketing !

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

आपकी यात्रा शुभ हो । मनवांछित मुलाकातों से परिपूर्ण हो । शुभकामनाओं सहित...

kshama ने कहा…

Anek shubhkamnaayen!Pune kee or kabhee padharen to zaroor miliyega!

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

आदरणीया शमां जी
सादर अभिवादन
आभारी हूँ आपके स्नेहिल भाव भरे आमंत्रण के लिए . जब भी पूना आऊंगा आपसे जरुर मुलाकात करूँगा ...

Gopal Mishra ने कहा…

I appreciate your love for Hindi. Good blog.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

किस वृक्ष के नीचे बैठे थे महाराज..

डॉ टी एस दराल ने कहा…

राम राम जी , राम राम ।

राज भाटिय़ा ने कहा…

राम राम जी

Udan Tashtari ने कहा…

लौट कर रिपोर्टिंग दिजियेगा मय फोटो.

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

आदरणीय समीर जी
सादर अभिवादन,
शुक्रिया ... भ्रमण के दौरान मोबाइल से बैम्बूजर पर सीधा प्रसारण चलता रहेगा घूमने फिरने के हिसाब से . कम से कम एक बढ़िया सुविधा हाथ लग गई है . ..

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सही कहा आपने......... यात्रा के लिए शुभकामनायें

सतीश सक्सेना ने कहा…

दिल्ली आओ तो बताना मिश्र जी ...
९८११०७६४५१

हास्यफुहार ने कहा…

बहुत अच्छी प्रस्तुति।

cmpershad ने कहा…

ओः! मैं तो समझा आप भी खूशदीप भाई की राह पर चले :)

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

आदरणीय cmpershad जी.
सादर अभिवादन
टीप के लिए आभार . सर जी हम जबलपुरियों की पलायन करने की आदत नहीं है ... आपने ने ही तो सिखाया है की पलायन मत करना ... हा हा हा ...आभार

Coral ने कहा…

बहुत सही

मोहसिन रिक्शावाला
आज कल व्यस्त हू -- I'm so busy now a days-रिमझिम